Shopping cart

Color Pencil

$80.00 $120.00
Remove

Water Pot

$80.00 $120.00
Remove

Art Paper

$80.00 $120.00
Remove

Stop Watch

$80.00 $120.00
Remove

Comics Book

$80.00 $120.00
Remove

Blog Detail

सरकार ने नये सिरे से पवन हंस में हिस्सेदारी बेचने के लिये बोलियां आमंत्रित की

Jun 11, 2021


सरकार ने मंगलवार को हेलीकॉप्टर सेवा प्रदाता कंपनी पवन हंस में प्रबंधन नियंत्रण सौंपने समेत रणनीतिक बिक्री के लिये फिर से बोलियां आमंत्रित की है। इससे पहले, दो बार इसकी बिक्री का प्रयास असफल रहा है। सरकार की पवन हंस में 51 प्रतिशत और ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) की इसमें 49 प्रतिशत हिस्सेदारी है। पूर्व में ओएनजीसी ने सरकार की हिस्सेदारी बेचे जाने के साथ कंपनी में अपनी भी पूरी हिस्सेदारी बेचने की पेशकश करने का निर्णय किया था।

कंपनी की अधिकृत पूंजी 31 मार्च, 2020 की स्थिति के अनुसार 560 करोड़ रुपये और चुकता शेयर पूंजी 557 करोड़ रुपये थी। संभावित बोलीदाता पीआईएम के बारे में सवाल 22 दिसंबर तक कर सकते हैं। इससे पहले, 2018 में सरकार ने पवन हंस में 51 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिये बोली आमंत्रित की थी। हालांकि ओएनजीसी के सरकार की हिस्सेदारी के साथ ही अपनी 49 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के निर्णय के बाद पेशकश को वापस ले लिया गया। वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी को 28 करोड़ रुपये और 2018-19 में 69 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।

    Facebook    Whatsapp     Twitter    Gmail